कभी घर के बिजली का बिल ₹ 9000 भरते थे, आज वह खुद सरकार को देते हैं बिजली…

घर छोटा हो या बड़ा अगर बिजली लगी हो, जिससे घर में रोशनी हो तो घर की रौनक में चार चांद लग जाता है। लेकिन बढ़ते बिजली के बिल को देखते हुए घर में लगे बल्ब को लोग कम ही जलाते हैं। इसी समस्या का समाधान बेंगलुरु की रहने वाले एक शख्स ने जो कभी ₹9000 बिजली का बिल भरा करते थे और आज वह सरकार को बिजली दे रहे हैं।

बेंगलुरु के रहने वाले पृथ्वी मंगिरी एक संगीत निर्माता हैं और वह ड्रम भी बजाते हैं। वह ब्रैड एंड जैम स्टूडियो के मालिक हैं। संगीत से जुड़े पृथ्वी प्रतिदिन ढोल बजाने का अभ्यास करते रहते हैं।

पृथ्वी ने उपाय ढूंढा
अपने घर के बिजली की लागत कम करना चाहते थे और इसके लिए वह हमेशा विचार करते और उपाय ढूंढने में लगे रहते थे। उन्होंने इस पर विचार करते हुए सोलर पैनल के विषय में जानकारी जुटानी शुरू की। पृथ्वी बताते हैं कि हमने कई तरह के विकल्प खोजे और डेढ़ साल पहले अपने घर की छत पर 5 किलो वाट का सोलर पैनल लगाया। उन पर करीब ₹50 हजार खर्च हुए। पैनलों को लगाने के बाद पिछले डेढ़ साल में बिजली बिल में ₹1 लाख से अधिक की बचत की।

पृथ्वी बताते हैं कि सबसे अच्छी बात यह है कि हमारा घर सौर ऊर्जा से उत्पन्न होने वाले बिजली का उपयोग कर रहा है और उससे अधिक जो बिजली प्राप्त हो जाती है या बच जाती है। वह बिजली को बेसकॉम द्वारा स्थापित एक अलग मीटर के माध्यम से एक ट्रांसफॉर्म में जाकर संग्रहित किया जाता है। BESCOM द्वारा उपयोग की जाने वाली प्रत्येक यूनिट के लिए BESCOM पृथ्वी के परिवार को भुगतान करती है।
हम ही सोलर पैनल का उपयोग कर बिजली को बचा सकते हैं और अपने घर के बिजली खर्च को कम कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top