राजस्थान में 3 करोड़ के 250 पेड़, अब चंदन की खुशबू से महके गा राजस्थान…

lakdi

पेड़ – पौधे जो हमें सिर्फ शुद्ध वातावरण ही नहीं देते बल्कि हमारे जीवन यापन का भी मार्ग बनते हैं। हर किसान अपने गांव की जलवायु के मुताबिक पेड़ पौधे लगाता है। जिससे उसे अच्छी उपज मिल सके और वह उसे बाजार में बेच कर अपना जीवन यापन कर सके।

आज हम आपको एक ऐसे ही किसान के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसने 550 रुपये प्रति पौधे के दर से 250 पौधे लगाए थे। जो अब पेड़ बन कर तैयार हो चुके हैं। आइए जानते हैं, इस किसान ने आखिर कौन सा पौधा लगाया है?

राजस्थान के अलवर जिले के एक गांव हाजीपुर डीडकर में रहने वाले एक किसान रूपराम ने ₹550 प्रति पौधे की दर से चंदन की 250 पौधे अपने आधे बीघा जमीन पर लगाए। 5 साल बाद अब ये बड़े हो चुके हैं और इनकी ऊंचाई तकरीबन 30 – 30 फिट है। जानकारों की मानें तो इस पेड़ को काटने में अभी 2 साल और लगेंगे क्योंकि यह पेड़ अपनी ऊंचाई तक तो पहुंच चुका है लेकिन इसे अभी 8 इंच मोटा होने में 2 साल लग जाएंगे।

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इन पेड़ों की कीमत को 3 करोड़ माना गया है। प्रत्येक पेड़ 1.5 लाख का है। 2 साल पूरे होने पर इस पेड़ में से चंदन की खुशबू अपने आप आने लगेगी और यह पूरी राजस्थान को अपनी खुशबू से महका कर रख देगा।

Latest Chandan Taskari News In Udaipur 2018 - गुलाबबाग : एक माह में कटे चंदन के 15 पेड़, जिम्मेदार बने बेपरवाह... | Patrika News

आपको बता दें कि किसान रूपराम ने रामदेव बाबा की कंपनी पतंजलि के प्रतिनिधित्व से भी इस मामले में बात की थी। चंदन के पौधों की देखभाल शुरू से ही की जाती है और इसकी जड़ों तक खुराक पहुंचाने के लिए अन्य पौधे जैसे मेहंदी का भी पेड़ लगाया जाता है। चंदन के पेड़ से निकलने वाली तेल की कीमत 60 से 70 हजार प्रति किलो होती है।

हम सभी जानते हैं कि चंदन की लकड़ी बहुत महंगी की होती है और इसका इस्तेमाल ईश्वर की पूजा व खुशबूदार समान बनाने के लिए किया जाता है, जैसे इत्र, साबुन और तेल। आपको बता दें कि सबसे ज्यादा चंदन ऑस्ट्रेलिया में पाया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top