नाक छिदवाने के प्राकृतिक फायदे, जानिए क्या है खास

fnakc

हम सभी जानते हैं कि लड़कियों की नाक – कान छेदवाना हमारे भारतीय परंपरा का एक अहम हिस्सा है। पहले के समय में यह काम अल्पायु में ही कर दिया जाता था। लेकिन अब लड़कियां अपनी सुविधा के अनुसार कान – नाक छेदवाति है। यहां तक की फैशन के दौर में कई लड़कियों ने अपने कान में तीन छेद करवाए हैं और उसमें वह इयररिंग्स पहना करती हैं।

परंपरा और फैशन के अलावा भी कान – नाक छिदवाने के अपने अलग फायदे है, आज हम आपको उन्हीं फायदों के बारे में बताने जा रहा है। आपको बता दें कि यह प्रथा पूर्वी देशों से आई है। वही हमारे समाज में लड़कियों के नाक शादी से पहले छिदावा लेना उचित माना जाता है।

आपको बता दें कि नाक छिदवाने से प्राकृतिक रूप से कई सुरक्षा प्राप्त होती है जैसे कि एंटीसेप्टिक, एंटीफंगल, एंटीमाइक्रोबयम यह सारी चीजें हमारी शरीर के घाव भरने में लाभदायक होती हैं। वही सूजन और संक्रमण कम करने में हमारी मदद करते हैं। यह हमारे शरीर का कई तरह की बीमारियों से बचाव करते हैं।

हमने अक्सर देखा है कि जब लड़कियां नया-नया अपना नाक छिदवाति है तो नाक की बाली से खेलने लगती है, जिसकी वजह से वहां घाव हो जाता है। जो बहुत तकलीफ देती है। इसलिए कभी भी नाक की बाली को बार-बार नहीं घूमना चाहिए। यहां तक कि नाक के छेद के अगल – बगल जो पपड़ी होती है उसे भी नहीं हटाना चाहिए। अगर नाक में सूजन होने लगे तो उसे गर्म पानी से सेक ठीक कर लेना चाहिए। कोई नही जानता होगा महिलाओं को नाक छिदवाने से होते है ये कमाल के फायदे,  पढ़कर खुद महिलाओं को नही होगा यकीन - Quick Joins

कहा जाता है कि नाक छिदवाने से लड़कियों को मासिक धर्म की पीड़ा से आराम मिलता है, वही महिला को शिशु को जन्म देते वक्त होने वाली पीड़ा से थोड़ी राहत मिलती है क्योंकि नाक की नसे सीधे प्रजनन अंग से जुड़ी होती है। इसी प्रकार नाक छिदवाने के अन्य अनेक फायदे हैं तो अगर अभी तक आपने अपना नाक नहीं छिदवाया है तो जरूर छेदवा ले।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top