अपने मुझे पैसे नहीं कामवाएं! कहकर जन्मदिन से 1 दिन पहले युवक ने दी जान

bd

अभी जन्मदिन को एक दिन पहले युवक ने की खुदकुशी। मृतक की पहचान करने का पता चला है कि उसका नाम सत्या रघुवंशी है जो कि 35 वर्ष का था। सत्या ने खुदखुशी अपनी निजी जिंदगी से परेशान होने के कारण की थी। खुदकुशी करने से पहले उसने अपने दो दोस्तों को फोन मिलाया था। अपने एक दोस्त नरेश रघुवंशी से उसने कहा कि “भाई साहब आपने मुझे पैसे नहीं कमवाए। बिना पैसों के जीवन कैसे चलेगा? इस पर दोस्त ने जवाब दिया कि तुम अभी तक पढ़ रहे थे। अब कमा लो, तभी सत्या ने कहा कि अब तो 35 साल की उम्र हो गई, कैसे कमाऊं”।

उसके बाद सत्या ने अपने दूसरी दोस्त गुना में रहने वाले जयदीप रघुवंशी से फोन पर कहा कि “अपने बीच में कुछ लोगों ने गलतफहमियां बढ़ा दी थीं। तू हमेशा मेरे दिल में रहेगा। तेरे जैसा दोस्त मुझे मिला जो दिल फरियाद है। जो सही को सही कहने की हिम्मत रखता है। तू मुझे हमेशा याद रखना। मैं तुझे अपनी जिंदगी में कभी नहीं भूलूंगा। मेरे दिल में तुझसे करीब कोई नहीं है।”

उसके बाद सत्या का शव गोपी सागर डैम के पास मिला। आपको बता दें कि सत्या रघुवंशी में हिंदी से एमए किया था। वह प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में लगा हुआ था। उसने चार बार एसआई की परीक्षा भी दी थी, वही शिक्षक भर्ती परीक्षा में उसके 120 अंक आए थे। लेकिन कई प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए उसकी उम्र सीमा खत्म हो गयी थी जिसकी वजह से वो परेशान रहता था।

शनिवार की सुबह सत्या अपने पिता का इलाज कराने के लिए आरोन से गुना आया था, इलाज के बाद उसने अपने पिता से कहा कि वह गोपी सागर डैम जा रहा है। कुछ समय बाद उसका फोन बंद आने लगा जब पिता ने दोस्तों से पूछा तो उसका कोई पता नहीं चला। रिश्तेदारों दोस्तों के साथ उसके पिता जब उसे ढूंढने निकले तो गोपी सागर डैम से पहले उसकी बाइक खड़ी हुई मिली और वही उसकी चप्पल भी थी। थोड़ी दूर पर उसका शव मिला।

सत्या की सगाई 15 दिन पहले ही हुई थी। लड़की का परिवार बहुत ही अमीर था, वही सत्या के पिता के पास 15 बीघा जमीन है। लेकिन शायद उसे किसी बात से मन में ग्लानी होने लगी और उसने आत्महत्या कर ली। रविवार के दिन जब सत्य का अंतिम संस्कार किया गया और उसी दिन उसका जन्मदिन भी था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top