दुनिया के कोन से देश में तीन रेलवे ट्रैक इस्तेमाल किए जाते हैं – जानिये इसका कारण |

tr

हमने हमेशा ही ट्रेन के लिए दो रेलवे ट्रेक को देखा है। लेकिन आज हम आपको ऐसे देश के बारे में बताने जा रहे है, जहा पर आपक दो नहीं बल्कि तीन ट्रेक देखने को मिलेंगे। तीन रेलवे ट्रैक के बारे में सुनना बहुत रोचक लगता है। हम आपको इसके पीछे के कारण को बताते है।

साथ ही आपको यह भी बतायेगे की यह ट्रैक दुनिया के किस देश में पाया जाता है। इसके होने से क्या फायदा होता है। और इस ट्रेक को किस नाम से जाना जाता है।

आपको बात दे की बांग्लादेश रेलवे को मिनिस्ट्री ऑफ बांग्लादेश के द्वारा संचालित किया जाता है। इस पुरे रुट की लंबाई लगभग 2,855 मार्ग किमी है। जिसमें मीटर गेज के साथ ब्रॉड गेज रेलवे ट्रेक भी है। रेलवे ट्रैक ड्यूल (dual) ब्रॉड गेज डबल रूट भी हैं। इसमें ट्रेन के लिए डबल लाइन पर ट्रैक सहित चलने वाले ट्रैक भी हैं।

यहां तीन रेलवे ट्रेक का उपयोग किया जाता है। 

बांग्लादेश दुनिया का एक ऐसा रेलवे है जिसमे तीन रेलवे ट्रैक का उपयोग किया जाता है। वर्तमान में धीरे-धीरे बांग्लादेश में रेलवे का विस्तार होता जा रहा है। जब मीटर गेज से ब्रॉड गेज में बदलाव होने लगा। बांग्लादेश दूर तक फैले मीटर गेज बंद नहीं करना चाहती थी। क्योंकि इस परिवर्तन से कोच, लोकोमोटिव और सारी चीजों को परिवर्तन करना पढ़ता है। इसलिए बांग्लादेश ने dual रेलवे ट्रैक का विस्तार किया। जिसके कारण इन सभी में बदलाव नहीं करना पड़े।

Dual रेलवे ट्रैक क्या है।

यह एक ऐसा रेलवे ट्रैक होता है। जो दो अलग-अलग गेज के ट्रेन को चालाने में सक्षम होता है। इसे मिक्स्ड गेज भी कहा जाता है। यानी ब्रॉड गेज और मीटर गेज को मिलाकर जो ट्रैक बनता है उसे dual गेज कहा जाता है। इस पर दोनों तरह की ट्रेने चल सकती है। इतना ही नहीं कभी-कभी तो फोर रेल का भी दो आउटर और दो इनर में इस्तेमाल किया जाता है। dual गेज बनाने के लिए दो बाहरी और दो आंतरिक रेलों का उपयोग करके चार रेल ट्रैक की आवश्यकता होती है।

लेकिन इसमें आपको सिर्फ तीन ट्रेक की जरूरत होती है। बांग्लादेश द्वारा तीसरा ट्रेक लोकोमोटिव को इलेक्ट्रिक सप्लाई देने के लिए बिछाया गया है। यह third रेल एक अलग गेज पर ट्रेनों के ऑपरेशन को सुनिश्चित करता है। dual गेज ट्रैक पर ट्रेन के प्लेटफार्म की हाइट बहुत कम होती है। क्योंकि उस पर दोनों गेज वाली ट्रेनों को रोका जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top