संदिग्ध परिस्थिति में हुई बेटे की मौत पिता ने 14 दिन से डीप फ्रीजर में क्यों रखा है बेटे का शव, जानिए पूरा मामला क्या है

bd

सुल्तानपुर में एक पिता अपने बेटे को इंसाफ दिलाने के लिए न्याय की गुहार लगा रहा है। आपको बता दें कि मामला सामने आया सुल्तानपुर से गांव से जहां एक पिता ने अपने बेटे के शव को डीप फ्रीजर में रखा हुआ है।

आपको बता दें कि बेटे की पिता शिव प्रसाद पाठक सेना में सूबेदार के पद पर कार्यरत थे। लेकिन अब वह अपनी कार्य से सेवानिवृत्त हो चुके है। पिता ने बताया कि उनके बड़े बेटे ने अपनी मौत की कुछ दिन पहले ही अपने छोटे भाई को फोन लगाया था, उसने कहा था कि उसे फंसाने की कोशिश की जा रही है अगर वह नहीं फंसे तो उसकी हत्या कर दी जाएगी। यह उसका आखरी कॉल था और कॉल के 14 दिन बाद ही उसकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। इस घटना की जानकारी उसके परिवार वालों को देर से मिली।

हालांकि शव का पोस्टमार्टम भी कर दिया गया है लेकिन दिल्ली पुलिस ने इस मामले में छानबीन करने से इंकार कर दिया है। तब शिव प्रसाद पाठक ने शव को अपने गांव ले आए और डीप फ्रीजर में डाल दिया। हालांकि उन्होंने अपने बेटे की मौत का कारण खोजने के लिए हर दरवाजे को खटखटाया लेकिन किसी ने उनकी मदद नहीं की।

आपको बता दें कि शिव प्रसाद पाठक का बड़ा बेटा शिवांक दिल्ली के एक कॉल सेंटर में काम करता था। लेकिन 2012 में उसने अपनी कंपनी खोल ली थी। उस कंपनी के लिए उसने दिल्ली की एक लड़की को एचआर के पद पर नियुक्त किया था। पिता ने बताया कि 2013 में दोनों ने शादी कर ली थी लेकिन लड़की की नजर हमेशा शिवांक के पैसों पर रहती थी। वह हमेशा शिवांक के ऊपर अपने पिता और भाई को कंपनी में पार्टनर बनाने का दबाव बनाती रहती थी। शिवांक ने अपनी पत्नी के नाम दो फ्लैट, एक कार कर दिये थे, वही 85 लाख के आभूषण भी दिए थे। फिर भी शिवांक की पत्नी की नजर उसकी संपत्ति पर थी। शिवांक ने 19 जुलाई को आखरी बार अपने छोटे भाई इशांक को फोन किया था और अपनी हत्या होने की आशंका जताई थी। इशांक के पास अभी भी उस कॉल की रिकॉर्डिंग है और उसके पिता अपने बेटे के लिए न्याय की गुहार लगा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top