चीन ने शेयर किया गलवान घाटी का अनदेखा खतरनाक वीडियो, इसमें देखा जा सकता है, कैसे दोनों देश के जवान लड़ रहे है। 

ghatig

हम सभी को पता है की, 2020 में पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के बिच किस तरह से संघर्ष हुआ था। जिसके बाद से ही दोनों देशो में तनातनी का माहौल गरमाया हुआ है। इसमें दोनों तरफ के कई सैनिक मारे गए थे, इसके एक साल बाद चीन के टीवी चैन.ने गलवान घाटी में हुए संघर्ष का नया 45 सेकंड वीडियो जारी किया है, जिसमे देखा जा सकता है कि किस तरह से चीन के सैनिक भारतीय सैनिकों पर पत्थर फेंक रहे है।

भारतीय जवानो ने मुंहतोड़ जवाब दिया

जारी किये गए इस 45 सेकेंड के वीडियो में देखा जा सकता है की किस तरह से भारतीय सेना के जवानो ने इसका मुहतोड़ जवाब दिया था। वीडियो को रिलीज कर चीन ने खुद ही अपनी बेइज्जती करवा ली है, क्युकी इस वीडियो में चीन के पत्थरबाज सैनिक एक्सपोज हो गए हैं। चीन ने सोचा था कि ये वीडियो जारी करने से उसका झूठ आगे बढ़ेगा और वो अपने सैनिकों की बहादुरी दिखा पाएगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ है।

करीब 45 सेकंड के इस वीडिया में दिखाई दे रहा है कि गलवान नदी के जमा देने वाले पानी में भारतीय जवान मोर्चा संभाले हुए हैं और सामने से चीनी सेना के जवान उन पर पत्‍थरबाजी कर रहे है। इसमें देख सकते है की दोनों देशों के सैनिकों के बीच आमने-सामने की जंग किस तरह से हुई थी। दोनों तरफ से भारी संख्या में सैनिक आमने सामने हैं। पत्थर चलाते हुए चीनी सैनिक ऊंचाई वाली जगह पर खड़े हैं और गलवान घाटी में पानी के बीच खड़े भारतीय जवानों पर पत्‍थर बरसा रहे हैं।

यह वीडियो रात के समय का है, इस वीडियो में हिंसा की रात के भी कुछ सीन को जोड़ा गया है। वीडियो में नजर आ रहा है कि लाठी और धारधार हथियारों से लैस चीनी सेना के सामने भारतीय जवान.. डटे हुए हैं और उनका सामना कर रहे है। इस स्थति में भारतीय जवानों ने बहुत कठिन परिस्थितियों में चीनी सेना को करारा जवाब दिया है।

15 जून की रात हुई इस झड़प में चीन ने दावा किया था कि उसके सिर्फ 4 सैनिक ही मारे गए थे, लेकिन यह बात झूटी है। उसने बाद में पांच जवानो के मरने की बात कही थी, लेकिन ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि इस खूनी संघर्ष में कम से कम चीन के 40 से 45 चीनी सैनिकों की मौत हुई थी।  जिसमे भारत के 20 जवान शहीद हुए थे।

watch video:

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top