काबुल एयरपोर्ट हमले में शहीद हुए अमेरिका के 13 सैनिकों, बदला लेते हुए अमेरिका ने आईएसआईएस के गढ़ बरसाए बम

kn

कुछ दिनों पहले काबुल एयरपोर्ट पर आईएसआईएस ने हमले करवाए थे। जिसमें अमेरिका के 13 सैनिक शहीद हो गए थे। इसकी जवाबी कार्यवाही अमेरिका ने करनी शुरू कर दी है और शनिवार को अमेरिका की सेना ने आतंकी संगठन आईएसआईएस को निशाना बनाते हुए, उस पर हवाई हमला करवाया। जिसमें सूत्रों के अनुसार खबर मिली है कि इस हमले में टारगेट बनाए गए आतंकवादी की मारे जाने की पुष्टि हो गई है।

अमेरिकी मीडिया ने बताया कि अफगानिस्तान के नांगहार शहर में बहुत बड़े आतंकी संगठन आईएसआईएस के ठिकाने को ड्रोन हमले के जरिए निशाना बनाएगा और उस ठिकाने को पूरी तरीके से बर्बाद कर दिया गया। आतंकवादी संगठन आईएसआईएस जिसका मुख्यालय नांगहार को ही माना जाता है। अमेरिका के अनुसार उसकी इस हवाई हमले में साजिशकर्ता की मृत्यु हो गई है। खुशी की बात यह है कि इस हवाई हमले में किसी भी आम नागरिक के मारे जाने की खबर नहीं आई है और इस मिशन को आसानी से ऑपरेट किया जा चुका है।

एक रिपोर्ट के अनुसार अफगानिस्तान में काबुल एयरपोर्ट पर फिर से आतंकी हमले की साजिश तथा आशंका जताई जा रही है। इस बड़ी समस्या को देखते हुए काबुल में स्थित अमेरिकी दूतावास ने लोगों को सतर्क रहने की चेतावनी देते हुए एयरपोर्ट के सभी गेट के पास से हट जाने को कहा है और यही नहीं उन्होंने एयरपोर्ट जा रहे हैं सभी अमेरिकी नागरिकों के लिए अमेरिकी दूतावास में एडवाइजरी भी जारी की है।

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन अपने बयान में आगे बताते हैं कि इस हमले को अंजाम देने के लिए ड्रोन और एयरक्राफ्ट ने अफगानिस्तान के बाहर से ही उड़ान भरी थी। बाइडन प्रशासन ने बताया कि अगर तालिबान हमारे सैनिकों को मारेगा तो हम जवाबी कार्यवाही जरूर करेंगे और बॉर्डर ने अपने सैनिकों को जवाबी कार्रवाई करने और सचेत रहने का आदेश दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top