भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर धारा-144 लागू, जानिये क्या है इसका कारण |

i p

भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर स्थित श्रीगंगानगर जिले में विभिन्न इलाकों में धारा-144 लागू कर दी गई है। कई समय से वहा पर आतंकी गतिविधिया जारी थी, जिसके चलते यहां पर धारा 144 लागू कर दी गयी है।

आशंका है कि घुसपैठिये घुसपैठ कर सकते हैं। 

बॉर्डर से लगे श्रीगंगानगर जिले में सीमा पार से कुछ घुसपैठिए इलाके में देश विरोधी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए घुसपैठ करने की फ़िराक में है। यहां पर कुछ दिनों पहले कुछ आतंकियों की तलाश क्र उन्हें मार गिराया था। उसके बाद से ही सघन जाँच अभियान चलाया जा रहे। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए श्रीगंगानगर जिला प्रशासन बॉर्डर एरिया में धारा 144 लागू कर दी है। यहां पर किसी भी तरह की आवाजाही शुरु नहीं की गयी है। यह 11 सितंबर तक लागू रहेगी।

इन इलाकों में में है धारा 144

धरा 144 सभी जगहों पर लागू नहीं की गयी है। बॉर्डर के नजदीक एरिया उपखंड श्रीगंगानगर, श्रीकरणपुर, रायसिंहनगर, अनूपगढ़ और घड़साना के बॉर्डर पर धारा 144 लागू की गई है। इसके साथ ही यहां पर जांच अभियान भी चलाया जा रहा है। वर्तमान हालात पर श्रीकरणपुर से कांग्रेस विधायक ने गुरमीत सिंह ने कहा की पंजाब के स्मगलर बॉर्डर पर सक्रिय हैं। यहां पंजाब के बड़े स्मगलर पाकिस्तान से स्मगलिंग कराते हैं।

बीएसएफ और आर्मी की बदौलत चैन की नींद सोते हैं

वह के विधायक गुरमीत सिंह ने कहा कि भारत-पाक की सीमा पर स्थित श्रीगंगानगर जिले से सटे बीकानेर क्षेत्र में भी बॉर्डर पर लगे तार के नीचे की मिट्टी हाथों से हट जाती है। जिसके कारण कई आतंकी इस रास्ते से देश में घुस जाते है। इसके कारण श्रीगंगानगर में चौकसी रहती है और बीएसएफ के जवान मुस्तैदी और मेहनत से ड्यूटी कर रहे हैं, इसी कारण से हम आज चैन की नींद सोते हैं।

धारा 144 में किसानों को खेती करने की छूट

भारत सरकार ने बॉर्डर इलाके में जीरो लाइन और तारबंदी के बीच की जमीन पर किसानों को खेती करने की छूट दी है। इस समय फसल को रोपने का काम चल रहा है, जिसके कारण सरकार ने किसानों के लिए इसमें छूट दी है। भारत सरकार को इसके लिए बधाई. सिंह ने कहा कि बॉर्डर पर भाईचारे के माहौल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top