कोरोना ने मचाया हाहाकार,पुरे देश में फिर से लॉक डाउन लगाने की आशंका।

covid-19

राजधानी में बेकाबू हुआ कोरोना ,क्या फिर से लगेगा देश में लॉक डाउन? स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने दिया जवाब।

दिल्ली में लगातार कोरोना के बढ़ते हालत को देखते हुए पुरे देश में एक बार फिर से चिंता छा गया है। और महाराष्ट्र, गुजरात ,बाकि कई राज्यों में नाईट कर्फू लगा भी है। महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे ने किया ऐलान की कोई भी दूसरे राज्य से आने वाला व्यक्ति को 72 घंटे पहले तक का ही रिपोर्ट वो भी नेगेटिव आना होगा तभी ओ महाराष्ट्र के अंदर जा सकता है। ऐसा उद्धव ठाकरे ने ऐलान किया है।देश में कोरोना की वजह से एक बार फिर से लॉक डाउन लगाने की स्तिथि आ गई है। जबकि महराष्ट्र,गुजरात,राजस्थान हिमांचल प्रदेश ,बाकि कई राज्यों में नाईट कर्फू चल भी रहा है। जिसके अनुसार रात 9 :00 बजे से 6 :00 बजे तक लॉक डाउन रहेगा। उसके बाद मार्केट खुल सकता है।

देश में फिर से लॉकडाउन या नहीं?

dr harshwardhan

देश में लॉक डाउन को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना नियमों का पालन सबसे जरूरी है.उन्होंने बताया की ,नियमों का पालन सबसे जरूरी है. 23 राज्यों के कई शहरों को कोरोना से निपटने के लिए गाइडलाइन जारी की गई है, जिसका अनुपालन राज्य सरकारें करा रही हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि देश में सबसे अधिक रिकवरी रेट है. अगर करीब 90 लाख लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं तो उनमें से करीब 85 लाख लोग ठीक भी हो चुके हैं. मृत्यु दर के मामले में भारत काफी पीछे हैं. कई शहरों में दोबारा कोरोना विस्फोट का मुख्य कारण सर्दी है. हमने उन्हें आगाह किया था.

मास्क न लगाने पर कई राज्यों ने की सख्ती ,कई जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ रही है धज्जिया।

mask compesery covid-19

कई राज्यों में बिना मास्क के पकड़े जाने पर हो रहा है जेल ,और कही जगहों पर काट रहा है। लम्बा चालान- दिल्ली में बिना मास्क के पकडे जाने पर 2000 रूपया तक का चालान कट जायेगा। और इसकी जरुरत भी थी क्यों की जहा कोरोना ने थोड़ा कदम पीछे खींचा आदमी की लापर वही बढ़ गया और जो ब्यक्ति लॉकडाउन में घर के अंडर भी मास्क पहनता था वो भी व्यक्ति भी बिना मास्क लगाए खुले ऍम सड़को पर घूम रहा है। जिसके कारण कोरोना ने फिर से आक्रोश दिखाया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि टेस्टिंग, ट्रैकिंग और आइसोलेशन को बढ़ावा देने पर जोर दिया जा रहा है. सरकारों को कोरोना के बेसिक पैरामीटर का पालन करने का निर्देश दिया जा चुका है. कई राज्य सरकारों ने कोरोना को रोकने के लिए बेहतरीन काम किया है. खासतौर पर दक्षिण भारत के राज्यों में अच्छा काम हुआ है.

कोरोना के कहर से बेहाल दिल्ली, 6 दिन में लगभग 680 लोगों की मौत.

दिल्ली में रोज करीब 100 से ज्यादा मरीजों की होती मौत से दिल्ली सिसक रही है. कोराना का कहर ऐसा है कि अस्पतालों में बेड कम पड़ गए हैं. कहीं मौत से जूझते मरीज को बेड नसीब नहीं हो रहा है कही बिना इलाज के ही दम निकल रहा है. अब तक कोरोना से 8, 391 मरीजों की मौत हो गई है. इस समय भारत में होने वाली कुल कोरोना के द्वारा मौतों में 20% मौते दिल्ली से हो रही है। मतलब भारत में मरने वाला हर पांचवा कोरोना मरीज दिल्ली का है। नए केश में दिल्ली टॉप पर है। जहा रोज नए केश का औसत 4-5 हजार का आ रहा है।

0 thoughts on “कोरोना ने मचाया हाहाकार,पुरे देश में फिर से लॉक डाउन लगाने की आशंका।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top