गूगल की नौकरी छोड़ किया अपने सपने को पूरा, आज मूवी स्टार्स भी उसके फ़ैन हैं

bs

गूगल की नौकरी छोड़ किया, अपना सपना पूरा। था, समोसे बेचने का शौक। जी, हम बात कर रहे हैं मुनाफ कपाड़िया की जिन्होंने “द बोहरी किचन” के नाम से अपने किचन की शुरुआत की। आज उनके खाने को बड़े-बड़े सितारों द्वारा भी पसंद किया जाता है। द बेटर इंडिया से बात करते दौरान मुनाफ बताया कि उन्होंने एक बार अपने दोस्तों को खाने पर बुलाया था, दोस्तों को उनका खाना इतना पसंद आया कि वह आज तक उसे भूल नहीं पाए। मुनाफ की मां नफीसा खाना बनाने का शौक रखती है और यहीं से शुरुआत हुई “द बोहरी किचन” की।

मुनाफ दोऊदी बोहरा समुदाय से ताल्लुक रखते हैं। जिसकी वजह से उनका खाना आम खाने से अलग होता है। मुनाफ ने अपने दोस्तों की बात सुनकर घर पर ही डायनिंग एक्सपीरियंस करने का सोचा और उन्होंने अगले हफ्ते अपने दोस्तों को डायनिंग एक्सपीरियंस के लिए बुलाया। दोस्त अपने जान पहचान वाले लोगों के साथ आए और उन्हें एक्सपीरियंस काफी पसंद आया। वह इस वक्त भी गूगल में थे लेकिन दोस्तों से अच्छा फीडबैक मिलने के बाद उन्होंने फैसला किया कि वह हर हफ्ते अपने घर पर डायनिंग एक्सपीरियंस रखेंगे और इस तरह शुरुआत हुई “द बोहरी किचन” की।

मुनाफ के घर का एक्सपीरियंस खुद बीबीसी टीम शूट करके गई। 2015 तक मुनाफ की किचन की चर्चा पूरे मुंबई और अगल-बगल के इलाकों में हो गई थी। मुनाफ ने अपनी मेनू में100 चीजें रखी थी। वहीं उन्होंने 2 किचन की शुरुआत कर दी थी। रानी मुखर्जी और रितिक रोशन जैसे स्टार्स भी इनके खाने की दीवाने थे।

मुनाफ़ और उनकी मां नफ़ीसा के खाने में सबसे ज़्यादा चर्चा होती है, वो है उनकी थाली जो 3.5 मीटर चौडी थी। इसका कांसेप्ट उनके समुदाय से ही आया, जिसकी जड़ें यमन की हैं। यमन एक रेगिस्तानी इलाका है, जहां पानी और संसाधनों की कमी के कारण लोग एक ही बड़ी थाली में खाना रखते थे और इसे घुमाते थे ताकि खाने में रेत न गिरे। मुनाफ इस वक्त अपने गूगल की जॉब छोड़ चुके थे ताकि वह “द बोहरी किचन” को पूरा समय दे सकें।

इस किचन का उद्देश्य लोगों को आराम और प्यार से खाना खिलाना है, जो किसी भी रेस्टोरेंट में आर्डर करने पर नहीं मिलता। इस वक़्त द बाहरी किचन के दो डिलीवरी किचन हैं और ये एक महीने में तीन बार लोगों को डाइनिंग एक्सपीरियंस के लिए बुलाते हैं। एक व्यक्ति के लिए एक मील की कीमत 1500 से 3000 रुपयों के बीच होती है। इस थाली के 40 प्रतिशत पकवान शाकाहारी होते हैं। द बोहरी किचन की चिकन बिरयानी, चिकेन कटलेट, स्मोक्ड चिकेन कीमा, नल्ली-नहारी, काजू चिकन, के अलावा दूधी का हलवा और खजूर की खट्टी-मीठी चटनी भी बहुत लोकप्रिय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top