दशकों पुरानी परंपरा तोड़कर पीएम मोदी पहुंचे सीधा अमेरिका

jh

नरेंद्र मोदी ने दशकों से चली आ रही परंपरा को तोड़कर अमेरिका के बहुत ही खास दौरे पर पहुंच चुके हैं। इससे पहले यह नियम था कि कोई भी प्रधानमंत्री अमेरिका पहुंचने से पहले जर्मनी के फ्रैंकफर्ट शहर में रुकते थे और उसके बाद अमेरिका जाते थे, लेकिन मोदी ने इस नियम को तोड़ते हुए सीधे अमेरिका वाशिंगटन में लैंडिंग की।

पीएम मोदी ने अत्याधुनिक एयर इंडिया वन प्लेन से इस सफर को पूरा किया जो कि लगातार 15 घंटे बिना रुके सीधे अमेरिका में लैंड हुआ। यह एयर इंडिया वन का प्लेन केवल राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को लेकर यात्रा करने के लिए ही बनाया गया है। इस प्लेन की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यहां लंबे सफर को बिना रुके ही पूरा कर सकता है। इस प्लेन को खरीदने में लगभग 45100 करोड़ रुपए का खर्च आया था।

इससे पहले जिस विमान से मोदी यात्रा करते थे। उसे अक्सर फ्रैंकफर्ट हवाई अड्डे पर तेल भरने के लिए रोका जाता था। पीएम मोदी ने बुधवार को यह यात्रा शुरू की और पाकिस्तानी एयर स्पेस का प्रयोग करते हुए अफगानिस्तान और इरान के रास्ते अमेरिका पहुंचे।
पीएम मोदी ने इस लेवल एयर इंडिया वन विमान का प्रयोग दूसरी बार किया है। इससे पहले वह बांग्लादेश जाने के लिए भी इस प्लेन से यात्रा कर चुके हैं। अमेरिका की न्यूज़ एजेंसी वीयान न्यूज के मुताबिक मोदी हमेशा फ्रैंकफर्ट में रुकते हैं। इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी फ्रैंकफर्ट में ही रुका करते थे।

पीएम मोदी अमेरिका में एक कोड शिखर सम्मेलन और संयुक्त राष्ट्र आम सभा को संबोधित करने के लिए पहुंचे हैं। उन्होंने जिस प्लेन से इस सफर को पूरा किया, वह विमान 900 किलोमीटर की रफ्तार से उड़ान भर सकता है और मिसाइल का भी इस विमान पर कोई असर नहीं होता। इस विमान में एक ऐसा सिस्टम लगा हुआ है जो कि दुश्मन के रडार सिग्नल को जाम कर देता है। इस विमान में एक अत्याधुनिक मिसाइल रक्षा प्रणाली का प्रयोग किया गया है। जिन्हें एलआईआरसीएम और एसपीएस कहा जाता है। यह अत्याधुनिक रक्षा प्रणाली अमेरिका ने भारत को $190000000 की कीमत पर बेचने की सहमति दी थी। इस अत्याधुनिक एयरक्राफ्ट को खासकर बड़े-बड़े नेताओं को सुरक्षित रूप से देश विदेश यात्रा करने के लिए ही बनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top