83 यात्रियों से भरा यूक्रेन का सैन्य विमान, काबुल में हुआ हाईजैक… इसे ईरान की ओर ले गए…

jh

तालिबान का जब से काबुल पर राज हुआ है वहां पर एक के बाद एक डरावनी खबर सामने आती रहती है। जिसके कारण वहां के स्थानीय निवासी खौफ में अपने दिन गुजार रहे हैं और इसी खौफ के बीच एक खौफनाक खबर आई है। काबुल में यूक्रेन का एक विमान हाईजैक कर लिया गया है यह विमान अफगानिस्तान में फंसे यूक्रेन के नागरिकों को निकालने के लिए लाया गया था।

यूक्रेन के डिप्टी विदेश मंत्री येवगेनी येनिन ने दी खबर

यूक्रेन के डिप्टी विदेश मंत्री ने यह जानकारी दी है जिसका दावा रूसी मीडिया कर रही है। रुसी मीडिया का दावा है कि विमान को हाईजैक करने के बाद इसे ईरान की ओर ले जाया गया है। रुसी मीडिया द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार यूक्रेन के डिप्टी विदेश मंत्री ने कहा है कि रविवार को कुछ लोगों द्वारा हमारी विमान को हाईजैक कर लिया गया है और यह हाईजैकर हथियारों से लैस है।

मंगलवार की सुबह हाईजैक किया गया था विमान

रूसी मीडिया के अनुसार मंगलवार की सुबह को यूक्रेन के विमान को हाईजैक किया गया था। यूक्रेन इन लोगों को एअरलिफ्ट करने की बजाय विमान में सवार कुछ लोग उसे ईरान की तरफ ले गए। विदेश मंत्री ने बताया कि 3 एअरलिफ्ट प्रयास असफल रहे, वही यूक्रेन के सुरक्षाकर्मी भी एयरपोर्ट तक नहीं पहुंच पाए जिसके कारण विमान को एअरलिफ्ट भी नहीं किया जा सका।

विमान वापसी में लगा यूक्रेन

यूक्रेन विदेश मंत्री ने विमान वापसी को लेकर कोई भी जानकारी नहीं दी है उन्होंने केवल इतना बताया है कि पूरी राजनीतिक सर्विस विदेश मंत्री दिमित्री कुलेबा के नेतृत्व में पूरे सप्ताह काम करेगी।

इससे पहले 83 नागरिकों की वतन वापसी

रूसी मीडिया की खबर को माने तो रविवार को 31 यूक्रेनी नागरिकों सहित 83 लोगों के साथ एक सैन्य विमान अफगानिस्तान की राजधानी काबुल से यूक्रेन की राजधानी कीव पहुंचा, जिसकी जानकारी यूक्रेन के राष्ट्रपति कार्यालय से मिली है और उन्होंने बताया है कि पाकिस्तानी सैन्य कर्मियों की स्वदेश वापसी हुई है। साथ ही विदेशी पत्रकार और मदद मांगने वाले कुछ लोगों को बाहर निकाला गया है।

काबुल में राजनीतिक अस्थिरता

अफगानिस्तान में अगर राजनीति की बात की जाए तो वह काफी अस्थिर है। अमेरिका और तालिबान के बीच दोहा में हुए समझौते के बाद अमेरिकी सेना अफगानिस्तान से जा चुकी है। जिसके कारण तालिबान ने काबुल पर बड़ी ही आसानी से कब्जा कर लिया ऐसे समय में हर एक देश के नागरिक अपने वतन वापस आना चाहते हैं। वहीं भारत ने भी अपने राजनयिकों को वापस बुला लिया है और कई अफगानी नागरिक दूसरे देशों में शरण ले रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top